Agar koi bima company dub jaye to kya hoga?

अगर कोई बिमा कंपनी डूब जाता है तो क्या होगा?

अगर कोई बीमा कंपनी डूब जाये तब इसके लिए आपको कोई चिंता करने की जरुरत नहीं है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें की मार्किट में Insurance को regulate करने के लिए IRDA (Insurance Regulatory Authority of India) का इस्तमाल किया जाता है.

IRDA एक strict regulator होता है जो की prioritize करता है customers को companies के ऊपर. Insurers को बाध्य होकर IRDA guidelines को follow करना होता है जो की govern करती हैं दोनों public और private insurance companies को एक देश में.

Companies को ये मानना होता है की वो customers के जमा किये हुए premiums को बहुत ही strictly अलग रखना चाहिए company के खुद के assets, liabilities और expenses से.

वहीँ इसके साथ उन्हें केवल allow होता है की वो इस जमा पूंजी को सही जगह में invest करें जैसे की government bonds.

यदि कभी अगर कुछ बड़ा हादसा हो जाता है जैसे की कभी कबार होता भी है, तब ऐसे में आपके सभी premium के पैसे आप ही के नाम पर ही होता है, वहीँ अगर insurance company bankrupt हो जाता है तब उस insurance company (बीमा कंपनी) को दुसरे insurance company अपने में शामिल कर लेते हैं यदि वो company इसे खरीद ले तो.

नयी Insurance Company बनाने पर काफी Restrictions होती है

Insurance companies देखा जाये तो एक दिन में बने नहीं होते हैं. कोई नया insurance company बनाने के लिए IRDA काफी सारे नियम लागु किये होते हैं. इन सभी restrictions को पालन करने पर ही नयी insurance company आप बना सकते हैं जो की इतना आसन नहीं होता है.

अगर सच्चाई बताएं तो Insurance Company कभी भी bankrupt नहीं होते हैं, अगर वो बहुत ही ख़राब प्रदर्शन करते हैं तब उन्हें उनके प्रतिद्वंदी ही खरीद लेते हैं.

Note : हमेशा कोशिश करें की अच्छे companies में ही invest करें और कभी भी छोटे startup insurance companies में हड़बड़ी में invest न करें.